ऑयस्टर परपेचुअल वीडियो कवर पोस्टर
ऑयस्टर परपेचुअल वीडियो कवर फालबैक

ऑयस्टर परपेचुअल

उत्कृष्ट ऑयस्टर

  • अपने शुद्धतम रूप
    में एक ऑयस्टर

    डिज़ाइन

  • सार्वभौमिक संकेत
    ऑयस्टर परपेचुअल मॉडलों का सौंदर्य उन्हें सार्वभौमिक और क्लासिक स्टाइल के प्रतीकों के रूप में एक अलग ही दर्जा दिलाता है। वे रोलेक्स की अग्रगामी मूल में दृढ़ता से निहित, शाश्वत स्वरूप और कार्य को प्रस्तुत करती हैं। मौलिक की सरलता।

  • ऑयस्टर परपेचुअल
    26 mm, ऑयस्टरस्टील
  • रोलेक्स ऑयस्टर परपेचुअल के संस्करण अपने रमणीक एवं स्पोर्टी रंगों में आँखों को लुभाने वाले डायलों में अलग ही दिखाई देते हैं और अलग-अलग साइजों और डायल के आकर्षक रंगों का एक पूरा परिवार बनाते हैं।

  • ऑयस्टर परपेचुअल
    31 mm, ऑयस्टरस्टील
  • ऑयस्टर परपेचुअल
    34 mm, ऑयस्टरस्टील
  • ऑयस्टर परपेचुअल
    39 mm, ऑयस्टरस्टील
  • रेड ग्रेप रंग इन सभी साइजों में उपलब्ध है— 26, 31, 34, 36 और 39 मिमी, जो पूरे परिवार को एक समान धागे से बांधता है।

  • सघनता और
    सरलता

    विशेषताएँ

  • इष्टतम सुरक्षा
    ऑयस्टर केस के 100 मीटर (330 फीट) की गहराई तक वॉटरप्रूफ़ होने की गारंटी की जाती है। इसका मध्य केस विशेष रूप से संक्षारण-प्रतिरोधी ऑयस्टरस्टील के ठोस ब्लॉक से तैयार किया जाता है। फ्लूटेड केस बैक को रोलेक्स घड़ीसाज़ों के लिए एक्सक्लूसिव विशेष टूल से वायुरुद्ध ढंग से स्क्रू से कसा जाता है।

    और पढ़ें
  • ऑयस्टरस्टील
    रोलेक्स अपने स्टील वॉच केस के लिए ऑयस्टरस्टील का उपयोग करता है। ब्रांड द्वारा विशेष रूप से विकसित, ऑयस्टरस्टील 904L स्टील परिवार में आता है। ये ऐसे सुपरएलॉय होते हैं जिनका उपयोग उच्च-प्रौद्योगिकी में तथा एअरोस्पेस और रसायन उद्योगों में बहुत प्रचलित है, जहाँ क्षरण का अधिकतम प्रतिरोध अत्यावश्यक होता है। 

    और पढ़ें
  • अबाध्य प्राकृतिक ऊर्जा
    1931 में, रोलेक्स ने एक फ्री रोटर के साथ एक सेल्फ़-वाइंडिंग मैकेनिज़्म का आविष्कार और पेटेंट किया, जिसे परपेचुअल रोटर कहा गया। यह जिस सिद्धांत पर आधारित था उसे आगे चलकर पूरे घड़ीसाज़ी उद्योग ने अपना लिया।

    और पढ़ें
  • अत्यंत महत्वपूर्ण
    ओरिजिनल

    यूनिवर्स

  • 1926 - रोलेक्स ऑयस्टर
    दुनिया के पहली वॉटरप्रूफ़ कलाई घड़ी
  • 1927 - टेस्टमोनी सिद्धांत का जन्म
    ऑयस्टर की सफलता डेली मेल में प्रकाशित
  • ऑयस्टर कलेक्शन रोलेक्स द्वारा 1926 में आविष्कृत और पेटेंटीकृत मौलिक ऑयस्टर मॉडल की सफलता पर निर्मित हुआ था। दुनिया की पहली वॉटरप्रूफ़ कलाई घड़ी के रूप में, इसने आधुनिक कलाई घड़ी के विकास में पथप्रदर्शक भूमिका निभाई।

  • 1927 - मर्सिडीज़ ग्लीट्जे
    ने रोलेक्स ऑयस्टर पहन कर इंग्लिश चैनल में तैराक़ी की
  • पिछले कुछ वर्षों में, ऑयस्टर ने कई अन्य नवोन्मेषों का गर्व के साथ मार्ग प्रशस्त किया — जैसे परपेचुअल रोटर के माध्यम से सेल्फ़-वाइंडिंग — जिसने अलग-अलग मॉडलों की पहचान निर्धारित की, उत्कृष्टता के लिए रोलेक्स की प्रतिष्ठा स्थापित की और अक्सर घड़ीसाज़ी के नए मानक कायम किए।

    और पढ़ें
  • 1935 - सर मैल्कम कैम्पबेल
    दुनिया के सबसे तेज़ ड्राईवरों में से एक
  • 1930 के दशक में रोलेक्स और दुनिया के सबसे तेज़ ड्राईवरों में से एक, सर मैल्कम कैम्पबेल, गति की खोज के साथ, एकजुट हो गए। 4 सितंबर 1935 को, ब्लूबर्ड पर सवार – और एक रोलेक्स घड़ी पहने हुए – इस “गति के राजा” ने उटाह में बोनविले सॉल्ट फ़्लैट्स में 300 मील प्रति घंटे (लगभग 485 किमी /घंटा) से अधिक भूतल गति का एक रिकॉर्ड स्थापित किया था।

    और पढ़ें

ऑयस्टर परपेचुअल के बारे में एक रिटेलर से संपर्क करें

केवल आधिकारिक रोलेक्स रिटेलर्स को रोलेक्स घड़ियों बेचने की अनुमति है। आवश्यक कौशल और तकनीकी जानकारी के साथ, वे आपको ऐसा चुनाव करने में आपकी मदद करेंगे जो जीवनभर आपका साथ देगा।

यह पेज शेयर करें