एक्सप्लोरर

शिखरों का आमंत्रण

ऑयस्टर परपेचुअल एक्सप्लोरर और एक्सप्लोरर II, अन्वेषण के साथ रोलेक्स की गहरी भागीदारी से विकसित हुई।

वे वहाँ जाती हैं, जहाँ जाने का जोखिम कुछ ही लोग उठाते हैं। कई वर्षों से ध्रुवीय, पर्वतारोहण एवं गुफाओं के अन्वेषणों को इस घड़ी से लैस करके, यह ब्रैंड इन घड़ियों का वास्तविक जीवन में परीक्षण करने में सफल हुई है।

दुनिया के कुछ सबसे निर्भीक अन्वेषक, पर्वतारोही और वैज्ञानिक एक्सप्लोरर और एक्सप्लोरर II को विभिन्न स्थानों पर ले कर गए और उनकी विश्वसनीयता का सबसे विषम परिस्थितियों में परीक्षण किया।

 

  • डिज़ाइन की गई
    अन्वेषण के लिए

    डिज़ाइन

  • 1953 में लॉन्च की गई एक्सप्लोरर का एक सरल डिज़ाइन और उच्च पठनीय ब्लैक डायल, बड़े घंटे के मार्कर व विशेष 3, 6, 9 अंक इसे एकदम विशिष्ट बनाते हैं। यह किसी भी परिस्थिति में, सटीकता से समय बताने के लिए, एक उपकरण घड़ी है। 36 मिमी, नई पीढ़ी की एक्सप्लोरर 1953 में लॉन्च किए गए मॉडल में अपने मूल आकार में वापस आ गई।

  • प्रकाश के छिन्न होने के काफी देर बाद भी, आप समय बता सकते हैं। एक्सप्लोरर के क्रोमालाइट घंटे के मार्कर और सुइयाँ प्रकाशमान सामग्री से भरी होती हैं, जो अंधेरे में भी उत्कृष्ट पठनीयता को सुनिश्चित करने के लिए लंबे समय तक प्रकाशमान नीली चमक को उत्सर्जित करती हैं। दिन के उजाले में, इन डिस्प्ले अवयवों में, एक बेहद चमकदार सफ़ेद रंग झलकता है।

  • 1971 में, एक्सप्लोरर के ही जैसे भाव से, एक्सप्लोरर II प्रस्तुत की गई, यह अन्वेषण के साथ रोलेक्स के खास रिश्ते को यादगार बनाती है।

  • एक्सप्लोरर II की विशेषता एक डेट डिस्प्ले, एक 24 घंटे की अंतिरिक्त नारंगी सुई और 24-घंटों के अंशांकनों के साथ एक स्थिर बेज़ेल है, जो दिन और रात के बीच में अंतर का पता लगाना संभव बनाते हैं। यह गुफ़ा विज्ञानियों, ज्वालामुखी विज्ञानियों और ध्रुवीय अन्वेषकों की मनपसंद घड़ी बन गई है।

  • प्रतिरोध
    चरम का

    विशेषताएँ

  • एक्सप्लोरर II की तीर के आकार की एक अतिरिक्त 24-घंटे की सुई, दिन में एक बार डायल का चक्कर लगाती है और इसका उपयोग उत्कीर्ण स्थिर बेज़ेल के संदर्भ में किया जाता है। यह दूसरे समय क्षेत्र में या 24-घंटे के प्रारूप में भी समय दर्शा सकती है - एक व्यावहारिक विकल्प जिसे ऐसी जगह पर उपयोग किया जा सकता है जहाँ दिन और रात के बीच अंतर का पता लगाना असंभव है, जैसे ध्रुव या गुफाएँ।

  • एक्सप्लोरर ऑयस्टरस्टील या येलो रंग के रोलेसर वर्शन में उपलब्ध है, जबकि एक्सप्लोरर II घड़ियाँ ऑयस्टरस्टील से बनी हैं। विशेष रूप से रोलेक्स द्वारा विकसित, ऑयस्टरस्टील अतुलनीय ताकत और सपष्टता के साथ एक अद्वितीय मिश्र धातु है। संक्षारण प्रतिरोधी और सबसे चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों के लिए डिज़ाइन की गई, यह ऑयस्टर परपेचुअल एक्सप्लोरर और एक्सप्लोरर II का एक ऐसा अभिन्न अंग है जो इसे प्रत्येक अन्वेषक के लिए एक आवश्यक यंत्र बनाती है।

  • एक्सप्लोरर रेंज की सभी घड़ियाँ ऑयस्टर ब्रेसलेट से युक्त हैं। 1930 के दशक के अंत में विकसित, यह थ्री-पीस लिंक ब्रेसलेट अपनी मज़बूती के लिए जाना जाता है। इस नए मॉडल में ऑयस्टर ब्रेसलेट, रोलेक्स द्वारा डिज़ाइन और पेटेंट किए गए ऑयस्टरलॉक फोल्डिंग सेफ़्टी क्लास्प से लैस है, जो इसे आकस्मिक तौर पर खुलने से रोकता है। इसे फोल्डिंग ऑयस्टरक्लास्प और ईज़ीलिंक कम्फ़र्ट एक्सटेंशन लिंक से लगा होता है, रोलेक्स द्वारा विकसित, जो पहनने वाले को आसानी से ब्रेसलेट की लंबाई लगभग 5 मिमी तक बढ़ाने देता है। इसके अलावा, एक कंसील्ड अटैचमेंट सिस्टम ब्रेसलेट और केस के बीच निर्बाध दृश्यात्मक निरंतरता सुनिश्चित करता है।

  • एक्सप्लोरर और एक्सप्लोरर II में मौजूद ट्विनलॉक वाइंडिंग क्राउन एक दोहरी वॉटरप्रूफनेस प्रणाली से लैस होता है। इसमें दो सील किए हुए क्षेत्र होते हैं, एक ट्यूब के अंदर और दूसरा क्राउन के अंदर। इस सिद्धांत का प्रयोग ऑयस्टर कलेक्शन की अधिकांश उन सभी घड़ियों में किया जाता है जिनके 100 मीटर (330 फीट) तक वॉटरप्रूफ़ होने की गारंटी दी जाती है।

  • एक्सप्लोरर, कैलिबर 3230 से और एक्सप्लोरर II, कैलिबर 3285 से लैस है, जो सेल्फ़-वाइंडिंग मैकेनिकल मूवमेंट हैं जिन्हें पूरी तरह रोलेक्स द्वारा विकसित और निर्मित किया गया है। इनमें एक पैराक्रोम हेयरस्प्रिंग लगा है जो तापमान परिवर्तनों में अत्यंत स्थिरता प्रदान करता है, और पैराफ़्लेक्स शॉक एब्ज़ॉर्बर जो झटकों से अत्यधिक प्रतिरोध प्रदान करते हैं।

  • 3230 कैलिबर
    एक्सप्लोरर, कैलिबर 3230 से लैस है
  • 3285 कैलिबर
    एक्सप्लोरर II, कैलिबर 3285 से लैस है
  • जवाब देना
    पुकार का 
    अज्ञात की

    विश्व

  • 1950
    1950 के एक ऑयस्टर परपेचुअल अभियान में इस्तेमाल घड़ी
  • 1953 - एवरेस्ट
    सर एडमंड हिलरी और तेनजिंग नोर्गे
  • 1930 के दशक से, रोलेक्स ने अनेक अभियानों को ऑयस्टर घड़ियों के साथ लैस करना शुरू किया। इन वर्षों में मिली प्रतिक्रिया के आधार पर विकसित की गई घड़ियाँ आगे चलकर पेशेवर श्रेणी की घड़ियाँ कहलाई जाने लगी जो उपकरणों का काम करती थी: एक्सप्लोरर और एक्सप्लोरर II जैसे मॉडल।

  • 1953
    पहली एक्सप्लोरर
  • एवरेस्ट अभियान से मिली जानकारी के आधार पर, एवं अन्य पर्वतारोहियों की प्रतिक्रिया के आधार पर, ब्रांड ने एक्सप्लोरर घड़ी को लॉन्च किया। बाद में, एक्सप्लोरर मॉडल की कार्यक्षमता को एक प्रबलित केस और अधिक सुपाठ्य डायल के साथ बेहतर बनाया गया, जिससे चरम परिस्थितियों की जरूरतें पूरी हो सकें।

  • 1971
    पहली एक्सप्लोरर II
  • इन वर्षों में, कई अन्वेषक, पर्वतारोही एवं वैज्ञानिक रोलेक्स टेस्टमोनी बने और वे एक्सप्लोरर और एक्सप्लोरर II से लैस होकर रिकॉर्ड तोड़ते रहे और रचनात्मक तरीकों से अपनी सहन-शक्ति और साहस का परीक्षण करते रहे।

एक्सप्लोरर के बारे में एक रिटेलर से संपर्क करें

केवल आधिकारिक रोलेक्स रिटेलर्स को रोलेक्स घड़ियों बेचने की अनुमति है। आवश्यक कौशल और तकनीकी जानकारी के साथ, वे आपको ऐसा चुनाव करने में आपकी मदद करेंगे जो जीवनभर आपका साथ देगा।

यह पेज शेयर करें