ब्राउज़र अपडेट आवश्यक

rolex.com पर आपका स्वागत है। आपको सर्वोत्तम संभव अनुभव प्रदान करने के लिए, rolex.com को अप-टु-डेट ब्राउज़र की आवश्यकता है। कृपया हमारी साइट को अच्छी तरह देखने के लिए किसी अधिक नए ब्राउज़र का प्रयोग करें।

QR कोड स्कैन करके WeChat पर रोलेक्स को फ़ॉलो करें
अलिहांद्रो जी. एनारिटू की रोलेक्स घड़ी

जी. इनारीटू

अलिहांद्रो

मानव स्थिति के अन्वेषक

सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के लिए लगातार दो ऑस्कर्स के विजेता (2015 में बर्डमैन, 2016 में द रेवेनैन्ट), अलिहांद्रो जी. एनारिटू मानव स्थिति के अपने अन्वेषण के साथ, अपनी दृष्टिगत शैली जिसने उन्हें एक मजबूत शक्ति के रूप में स्थापित किया है, के लिए जाने जाते हैं। उनकी पहली फीचर फिल्म, 2000 का नाटक अमोरेस पेरोस, सर्वेश्रेष्ठ विदेशी भाषा फिल्म ऑस्कर के लिए नामांकित हुआ था और उनके दो सर्वेश्रेष्ठ निर्देशक ऑस्करों ने, इस मेक्सिकी फिल्म निर्माता को फिल्म इतिहास में हॉलीवुड के दिग्गज जॉन फोर्ड और जोसफ एल मैनकेविच के साथ जगह दे दी है।

एनारिटू की अगली फीचर फिल्म 21 ग्राम्स (2003) के लिए, उन्होंने अंग्रेज़ी-भाषा सिनेमा का रुख किया, इसके बाद बेबल (2006) आई, जो तीन महाद्वीपों के चार देशों में, चार अलग-अलग भाषाओं में फिल्म की गई और उसने सर्वश्रेष्ठ निर्देशक और सर्वश्रेष्ठ पिक्चर सहित, सात एकेडमी पुरस्कारों में नामांकन प्राप्त किया। इनमें से प्रत्येक फिल्म पारंपरिक कथा संरचनाओं को तोड़ती है; मानव अवस्था का पता लगाने के लिए समय और स्थान को विभाजित करते हुए दृष्टिकोण को बदलती है, और इस प्रकार रचना त्रय पूरा होता है।

Rolex presents: Alejandro G. Iñárritu, an explorer of the human condition

एनारिटू ने ऑस्कर नामांकित नाटक बियूटीफुल (2010) का सह-लेखन और निर्देशन किया, जो उनकी शुरुआती फिल्म के बाद से अपनी मूल स्पेनिश भाषा में उनकी पहली फिल्म, और सर्वश्रेष्ठ विदेशी फिल्म एकेडमी पुरस्कार में उनका दूसरा नामांकन थी। 2014 में, उन्होंने अपनी पहली कॉमेडी, बर्डमैन; का सह-लेखन और निर्देशन किया; इस फिल्म को नौ एकेडमी पुरस्कार नामांकन मिले और यह आगे चलकर चार ऑस्कर्स जीती जिनमें से तीन एनारिटू (सर्वश्रेष्ठ निर्देशक, पिक्चर और आरिजिनल स्क्रीनप्ले) को मिले। 2016 में, उन्हें द रेवेनेन्ट के लिए एक और एकेडमी पुरस्कार मिला, जिससे वे लगातार दो वर्षों तक सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का ऑस्कर जीतने वाले, इतिहास के बस तीसरे निर्देशक बने; वह फिल्म खुद भी 12 अकैडमी पुरस्कारों के लिए नामांकित हुई।

अलिहांद्रो जी. एनारिटू और सिनेमा

“हमारा जीवन बहुआयामी है लेकिन समय रैखिक है - हम इससे बच नहीं सकते हैं। सिनेमा एक फ्रेम के भीतर एक द्वि-आयामी वास्तविकता है, लेकिन समय और स्पेस खंडित हैं, यही कारण है कि यह बहुत मुक्त करने वाला और व्यसनकारी है। ”

अलिहांद्रो जी. एनारिटू की घड़ी

एनारिटू 2014-2015 रोलेक्स गुरु और प्रशिक्षु कला पहल में फिल्म गुरु थे, जिसमें उन्होंने फिल्म निर्माण की सारी “अनंत संभावनाओं” को खोलते हुए द रेवेनेन्ट, के सेट पर, अपने प्रशिक्षु युवा इस्राइली निर्देशक टॉम शॉवल को, अपनी भूमिका सौंप दी।

उनका नवीनतम कार्य, कारने वाई एरीना (वस्तुतः उपस्थित, भौतिक रूप से अदृश्य), वास्तविक अनुभवों के आधार पर बनी एक वैचारिक आभासी वास्तविकता स्थापना है, जो दर्शकों को शरणार्थियों की व्यक्तिगत यात्रा के टुकड़े का अनुभव करने की अनुमति देती है। इसे 2017 के नाइन्थ अन्नुयल गवर्नर्स अवार्ड्स में विशेष ऑस्कर दिया गया, जो एनारिटू का पाँचवाँ एकेडमी पुरस्कार था। एकेडमी ने कहा कि वो इस पुरस्कार को "कथाकारिता के दूरदर्शी और शक्तिशाली अनुभव"की पहचान के रूप में दे रहे हैं।

अलिहांद्रो जी. एनारिटू की फिल्मों में अक्सर आपस में जुड़ी हुई कहानियाँ दिखाई जाती हैं, जिनकी पटकथा विषम होती है और एक क्षेत्र जिसमें समय का निर्माण होता है, और समय की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका भी होती है। जैसे वो समझाते हैं, “ हमारा जीवन बहुआयामी है, लेकिन समय रेखीय – हम उसके पार नहीं जा सकते। सिनेमा फ्रेम के अंदर एक द्विआयामी वास्तविकता है, लेकिन समय और स्थान विभाजित हैं, जिसके कारण यह इतना मुक्तिदायी और नशीला है।”

उन्होंने, इस वर्ष, अपने सहकर्मी रोलेक्स टेस्टीमोनियों के साथ कहा: “प्रत्येक निर्देशक अपने आप में एक ब्रह्मांड है। कोई भी फिल्म, भले आप चाहें या न चाहें, आपका स्वयं का एक प्रतिबिंब है...”

“प्रत्येक मनुष्य का एक अद्वितीय और अपुनरावृत जीवन अनुभव है। सिनेमा की सुंदरता यह है कि यह हमें छवियों के साथ और व्यक्तिगत दृष्टिकोण के माध्यम से, उस अद्वितीय अनुभव को व्यक्त करने, और एक ही समय में लाखों लोगों के साथ साझा करने की अनुमति देता है। ”

अलिहांद्रो जी. एनारिटू