रोलेक्स और सिनेमा

विज़न से भी आगे बढ़कर

)

मास्टरपीस क्या है?

)

कल्पनाओं की विरासत? 

सपष्टत:

लेकिन वह भी अनगिनत





टेक्नीशियन के

इंजीनियर

आर्टिस्ट

जो न सिर्फ़ ‘है 'का लगातार पीछा करते हैं

)

लेकिन क्या
‘हो सकता है’

)

और अपनी अगली पीढ़ी पर भरोसा करते हैं, ताकि

उनकी विरासत बरकरार रहे।

क्या यह विज्ञान है?

या फिर सुंदरता की भावना?

)

मास्टरपीस इन दोनों का ही समन्वय है।

समय के साथ रहने वाली

और यही वजह है कि इसका जश्न मनाना क्यों ज़रूरी है।

यह पेज शेयर करें