स्विस शो जंपिंग चैम्पियन स्टीव गुएरडैट, चलना सीखने से पहले से एक घोड़े की सवारी कर रहे थे, और ये दुनिया के सबसे उम्दा शो जंपरों में से के बन चुके हैं। इस खेल के प्रति उनके समर्पण और घोड़ों के प्रति उनके जुनून ने, उन्हें वो सफलता दिलाई है जो वे आज ये बन चुके हैं। 2012 तक, गुएरडैट विश्व में तीसरे स्थान पर थे, वहाँ से 2013 में उन्होंने CHI (सीएचआई) जेनेवा में रोलेक्स ग्रैंड प्रिक्स जीता और तब उनकी आजीवन प्रेम गाथा की अनुस्मारक, और उनकी उपलब्धियों के व्यक्तिगत साक्ष्य के रूप में, उनकी रोलेक्स कॉस्मोग्राफ़ डेटोना उनकी कलाई पर थी।

एक सवार और एक घोड़े के बीच का संबंध मूल रूप से एक प्रेम कथा ही है। यह ऐसा कतई नहीं है जो रातोंरात हो जाए। यह आपके और आपके घोड़े के बीच में कड़ी मेहनत है, ताकि आप यह समझ सकें कि वो क्या जानता है और क्या नहीं| भरोसे के माध्यम से, समय के साथ ही, यह सामंजस्य स्थापित होता है।

मेरे दिमाग में पहले से ही यह स्पष्ट था कि मैं घोड़ों के इर्द-गिर्द रहना चाहता हूँ, और मुझे लगता है शायद मैं चलना सीखने से पहले ही घोड़े पर बैठ गया था। घोड़े की पीठ पर बैठना ही मेरी खुशी है — क्योंकि मैं स्वच्छन्द महसूस करता हूँ। इसमें बस मैं और मेरा घोड़ा होते हैं। और मूलतः मैं इसी एहसास की तलाश करता हूँ, अपने जीवन में, इस एहसास की मैं सबसे ज़्यादा कद्र करता हूँ। एक शो जंपर होना एक खेल से कहीं अधिक, एक जीवन शैली है। आपको वास्तव में इसका व्यसनी होना पड़ता है, क्योंकि, मूल रूप से आपको अपना जीवन घोड़ों को देना होता है। यह जीवन की एक सुंदर पाठशाला है: जो भी घोड़े मुझे सिखाते हैं, वो सब मुझे एक बेहतर व्यक्ति बनाता है। सफलता उसके बाद आती है।

मेरी रोलेक्स डेटोना मुझे इस सब की याद दिलाती है, 2013 में जब मैंने पहली बार CHI (सीएचआई) जेनेवा जीती थी और मैंने इसे पहना था, वह मेरे लिए एक विशेष घटना थी – एक दिन जिसे मैं कभी नहीं भूलूँगा।

मैं 16 का था, जब मैंने पहली बार CHI (सीएचआई) जेनेवा में घुड़सवारी की। मुझे उस शो से प्यार है, मुझे वहाँ के लोगों से प्यार है। वे मुझे बदले में हज़ार गुना वापिस देते हैं, ये साल का सबसे अच्छा सप्ताह होता है। मैं वहाँ पर साल दर साल अपना सबसे अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करता हूँ। मुझे स्विट्ज़रलैंड में घुड़सवारी करना बहुत पसंद है क्योंकि वहाँ के दर्शक वहाँ के शो की जान होते हैं, और जब आप रणभूमि पर उतरते हैं और आपको लगता है की लोग आपको प्रोत्साहित कर रहे हैं... तो यह मुझमें पंख लगा देता है।

मेरी रोलेक्स डेटोना मुझे इस सब की याद दिलाती है, 2013 में जब मैंने पहली बार CHI (सीएचआई) जेनेवा जीती थी और मैंने इसे पहना था, वह मेरे लिए एक विशेष घटना थी – एक दिन जिसे मैं कभी नहीं भूलूँगा। यह शायद वो एक चीज़ है जिसके साथ मैंने सबसे अधिक समय बिताया है, मैं इसे दिन-रात पहनता हूँ, चाहे मैं जो भी करूँ, यह घड़ी हमेशा मेरे साथ रहती है।

उसके बाद से मेरी घड़ी ने बहुत सारे अच्छे पल देखे हैं – लेकिन मुझे इस बात की भी बहुत खुशी है कि ये बात नहीं कर सकती, क्योंकि कुछ ऐसे पल हैं, जो बस हम दोनों तक ही सीमित रहने चाहिए।

अगर आज मैं इस घड़ी की ओर देखता हूँ, तो मुझे एक ऐसी चीज़ दिखाई देती है जो मेरा हिस्सा बन कर रह गई।

स्टीव गुएरडैट की घड़ी

ऑयस्टर परपेचुअल कॉस्मोग्राफ़ डेटोना