बेल्जियन ध्रुवी अन्वेषक एलन ह्यूबर्ट ने 1983 से अब तक, उत्तरी और दक्षिणी ध्रुव के कई उल्लेखनीय पर्वतारोहण और ध्रुवी अभियानों में हिस्सा लिया है। 2002 में, ह्यूबर्ट ने, जलवायु परिवर्तन को समझने की कुंजी के रूप में, ध्रुवीय विज्ञान केसमर्थन हेतु इंटरनेशनल पोलर फ़ाउंडेशन (IPF) की स्थापना की। यह हठी अन्वेषक अभी भी वही कर रहे हैं जो इन्हें सबसे अधिक पसंद है: ध्रुवों पर अभियानों की योजना बनाना, और जो हमेशा उनकी टीम के एक आवश्यक सदस्य के सहचर्य में होती है, उनकी रोलेक्स एक्सप्लोरर II।

आज, हमारे पारिस्थितिकी तंत्र बहुत तेज़ी से परिवर्तित हो रहे हैं। हम सटीकता से नहीं जानते कि वो किस प्रकार अथवा कितनी तेज़ी से परिवर्तित होंगे। पहले से कहीं अधिक, हमें महासागरों और ध्रुवी क्षेत्रों में जाने वाले नए अन्वेषक, नए साहसी, नए वैज्ञानिकों की आवश्यकता है, ताकि हम यह समझ सकें कि इस परिस्थिति से निपटने के लिए, आने वाले दशकों में हम क्या कर सकते हैं।

वैज्ञानिक बताते हैं कि आज के परिवर्तन बहुत तेज़ हैं, और हम नहीं जानते कि भविष्य में क्या होगा लेकिन हम यह अवश्य जानते हैं कि इस ग्रह में अपना अस्तित्व कायम रखने और मिल कर इस दुनिया को बदलने के लिए हमें क्या करना होगा। मेरा मानना है कि, अन्वेषकों के रूप में, यह हमारे लिए बहुत रोचक है कि हम ग्रह के सुदूर छोरों पर भी कोमलता को छू सकते हैं। और जब हम वापिस आते हैं, तो हम इस दृढ़-विश्वास और जो हमने सीखा है उसे व्यक्त करने की कोशिश करते हैं। अन्वेषकों के रूप में, यह हमारी ज़िम्मेदारी है कि हम उस युवा पीढ़ी के लिए इन जगहों को जीवित रखें जिसने अपना जीवन उत्तरी और दक्षिणी ध्रुवों और अन्य ग्रहों की तरह अंटार्कटिक को भी एक सपने के रूप में देखने में बिता दिया है, एक ऐसी जगह जहाँ केवल बस कुछ ही लोग जा सकते हैं।

मेरे लिए अन्वेषण, एक जुनून है। यह प्रकृति के साथ एक ऐसा संबंध है जिसे मैं कभी भी नियंत्रित नहीं कर पाऊँगा।


मेरे लिए अन्वेषण, एक जुनून है। यह प्रकृति के साथ एक ऐसा संबंध है जिसे मैं कभी भी नियंत्रित नहीं कर पाऊँगा। एक अन्वेषक के नाते, मुझे हमेशा खुद ही प्रकृति का सामना करना पड़ेगा। मैं किसी और के साथ प्रतिस्पर्धा नहीं कर रहा हूँ, मैं अपने आप से प्रतिस्पर्धा कर रहा हूँ।

मुझे रोलेक्स और अन्वेषण के संबंध का एहसास 1998 में हुआ, जब मैंने वह घड़ी खरीदी जिसे आज मैं पहने हुए हूँ। मैं एक साझेदारी से आकर्षित हुआ, क्योंकि उन्हें पर्यावरण की परवाह है। और वे अन्वेषण की नैतिकता की भी परवाह करते हैं। और वह बिल्कुल वैसा ही था जैसा मेरा स्वयं का अवलोकन था।

एक्सप्लोरर II एक सरल घड़ी है, और अभियानों के दौरान, मैं अपने साथ हमेशा सरल उपकरण ले जाना पसंद करता हूँ। इस घड़ी का मेरे लिए अनिवार्य उपयोग है, क्योंकि इसमें सुईयाँ हैं जिससे मैं अपनी घड़ी को एक बियरिंग के रूप में उपयोग कर सकता हूँ। लोग यह नहीं जानते कि बर्फ पर, हमारे पास कोई संदर्भ नहीं होता, इसलिए जब मैं एक दिशा से दूसरी की ओर जाता हूँ, मुझे लगातार अपनी घड़ी को फिर से ठीक करना पड़ता है – लेकिन अगर आप रुकते हैं और अपने आस-पास देखते हैं तो सब कुछ सफ़ेद दिखाई देता है। और यहाँ तक की मौसम खराब होने पर भी, हर जगह सब कुछ सफ़ेद ही होता है। उस समय पर, केवल जिस एक चीज़ पर मैं भरोसा कर सकता हूँ वो है सुरक्षा, कि मैं अपना रास्ता ढूँढ लूँगा।

जब मुझे यह घड़ी मिली, तो मुझे यह तथ्य बहुत रोचक लगा कि यह न कभी खराब होगी या न कभी बंद होगी: इसमें कोई बैटरी नहीं है, यह हर वक्त काम करती है, जहाँ भी मैं जाता हूँ, खराब मौसम में भी, यह काम करती है। और अभियानों में, मुझे इसी की आवश्यकता होती है। मैं किसी ऐसे उपकरण पर भरोसा नहीं कर सकता जो समस्याएँ पैदा करे, क्योंकि हमारा मुख्य फोकस नेवीगेशन होता है। मैं अपना रास्ता नहीं भूल सकता। वरना, मैं खो जाऊँगा।

जब मुझे यह घड़ी मिली, तो मुझे यह तथ्य बहुत रोचक लगा कि यह न कभी खराब होगी या न कभी बंद होगी।

मुझे इस घड़ी की जो बात सबसे प्रभावशाली लगी वो यह है कि मैं इसे अपने दैनिक जीवन में पहन सकता हूँ, और यह मुझे न केवल अपने अभियानों की याद दिलाती है, बल्कि यह मुझे नए रोमांचों के सपने भी दिखाती है। मेरे लिए, इसे पहनना कोई स्वामित्व का प्रश्न नहीं है, यह वास्तव में एक ऐसी चीज़ है जो मुझे प्रेरित करती है क्योंकि यह मेरे जुनून का एक हिस्सा है: जो है पृथ्वी के दूरस्थ क्षेत्रों की यात्रा करना।

एक अन्वेषक के रूप में, मैं जो कुछ भी इन ध्रुवीय क्षेत्रों में खोजता हूँ, उसे साझा करना चाहता हूँ और मैं जानता हूँ कि इसे अकेले करना असंभव है। यह हमेशा दल बल से होता है, और मेरी एक्सप्लोरर II मेरे दल का एक हिस्सा है।

एलन ह्यूबर्ट की घड़ी

ऑयस्टर परपेचुअल एक्सप्लोरर II

यह पेज शेयर करें