professional_watches_milgauss_video_cover_0001_1920x1080.mp4

मिलगॉस

विज्ञान के प्रति सम्मान

मिलगॉस को वैज्ञानिक समुदाय की मांगों को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किया गया था और यह 1,000 गॉस तक के चुंबकीय क्षेत्रों को सहन करने में सक्षम है। सामान्य मैकेनिकल घड़ी की विश्वसनीयता और सटीकता 50 से 100 गॉस के चुंबकीय क्षेत्र से प्रभावित हो सकती है।

लेकिन कई वैज्ञानिक अपने काम के दौरान बहुत अधिक चुंबकीय क्षेत्रों के संपर्क में आते हैं। रोलेक्स का समाधान था मिलगॉस — अपने क़िस्म की पहली घड़ी। इसलिए घड़ी का नाम, मिल्ले रखा गया, जिसका मतलब फ़्रेंच में हज़ार है। यह विशेष रूप से जेनेवा स्थित यूरोपियन ऑर्गनाइज़ेशन फ़ॉर न्यूक्लियर रिसर्च (CERN) के वैज्ञानिकों द्वारा पहने जाने वाली घड़ी के रूप में प्रसिद्ध है।

मिलगॉस

डिज़ाइन

एक अनोखी
पहचान

अपनी वैज्ञानिक विरासत पर खरी

मिलगॉस अपनी विकास यात्रा के दौरान अपनी वैज्ञानिक विरासत और अद्वितीय पहचान के प्रति आस्थावान बनी रही है। अपनी साफ़ रेखाओं और चेतन नारंगी सेकंड की सुइयों के साथ, मूल मॉडल को प्रतिबिंबित करने के लिए वज्रपात के आकार में मौजूद, मिलगॉस एक ही नज़र में पहचानने योग्य है।

मिलगॉस की विशेषता इसके चमकीले सफ़ेद या नारंगी घंटे के निशान हैं। लाइम की झलक लिए हुए ग्रीन सैफ़ायर क्रिस्टल इष्टतम सुपाठ्यता बनाए रखते हुए प्रकाश के प्रतिबिंब उत्पन्न करता है। रोलेक्स का एक और पहला।

विशेषताएँ

चुंबकीय
हस्तक्षेप का प्रतिरोध

चुंबकीय हस्तक्षेप के प्रति मिलगॉस की प्रतिरोधी क्षमता के केंद्र में जो पहला नवोन्मेष है, वह है ऑयस्टर केस के भीतर का कवच। रोलेक्स द्वारा चुने गए फेरोमैग्नेटिक मिश्र धातुओं से बना, यह मूवमेंट को घेरता और उसे संरक्षित करता है। चुंबकीय प्रवाह घनत्व का प्रतीक —एक तीर के साथ अंग्रेज़ी का बड़ा अक्षर 'B' — इस चुंबकीय शील्ड में उत्कीर्ण है, लेकिन केवल रोलेक्स-प्रमाणित घड़ीसाज़ इसे देख पाएँगे।

मिलगॉस कैलिबर 3131 से लैस है, जो सेल्फ़-वाइंडिंग मैकेनिकल मूवमेंट है, जिसे पूरी तरह रोलेक्स द्वारा विकसित और निर्मित किया गया है। इसमें ब्रांड द्वारा पेटेंट की गई अत्याधुनिक प्रौद्योगिकियां शामिल होती हैं जो चुंबकीय क्षेत्रों के प्रति असाधारण रेज़िस्टेंस सुनिश्चित करती हैं।

नई जेनरेशन के मिलगॉस के मूवमेंट के अनेक प्रमुख घटक नवोन्मेषी पैरामैग्नेटिक सामग्रियों से बने हैं, जिनमें ब्लू पैराक्रोम हेयरस्प्रिंग शामिल है। उन्हें घड़ीसाज़ी की समग्र प्रक्रिया पर रोलेक्स की अद्वितीय कमान की बदौलत उन्नत तकनीक द्वारा इन-हाउस विकसित किया और बनाया गया था।

professional_watches_milgauss_the_rolex_way_0001.mp4

यूनिवर्स


वैज्ञानिक
शोध के
अग्र
भाग में

1956, CERN

सबसे बड़ी प्रयोगशाला, सबसे छोटा कण

ऑयस्टर परपेचुअल मिलगॉस 1956 में विकसित, एक पथप्रदर्शक चुंबकरोधी घड़ी है जो वैज्ञानिकों और इंजीनियरों द्वारा पहनी जाती है जैसे यूरोपियन ऑर्गनाइज़ेशन फ़ॉर न्यूक्लियर रिसर्च (CERN) के वैज्ञानिकों द्वारा।
CERN, विश्व की पूर्व-प्रतिष्ठित कण भौतिकी प्रयोगशाला और विश्व के सबसे बड़े और सबसे शक्तिशाली पार्टीकल एक्सलरेटर, लार्ज हेड्रोन कोलाइडर (LHC) का गृह स्थान।

1956

पहली मिलगॉस

यूरोपियन ऑर्गनाइज़ेशन फ़ॉर न्यूक्लियर रिसर्च(CERN) ब्रह्मांड के मौलिक रहस्यों के बारे में वैज्ञानिक अनुसंधान की अग्रिम पंक्ति में है। 1950 के दशक में, CERN यह पुष्टि करने वाले पहले वैज्ञानिक संस्थानों में से एक था कि मिलगॉस घड़ी 1,000 गॉस तक के चुंबकीय क्षेत्रों का प्रतिरोध कर सकती है।

CERN

यह प्रयोगशाला फ्रांसीसी-स्विस सीमा पर जेनेवा के पास स्थित है।

प्रत्येक रोलेक्स
एक कहानी बयां करती है

टिम हेनमैन

स्टोर में

मिलगॉस

का अनुभव करें

रोलेक्स घड़ी के सूक्ष्म विवरणों, संतुलित वज़न, आराम और मात्र उसके एहसास का प्रत्यक्ष अनुभव ही, अतुल्य है।

सभी रिटेलरों को देखें
No Authorized Retailers were found in your Location

अपनी
मिलगॉस कॉन्फ़िगर करें

आपको ये भी पसंद आ सकती हैं...

परपेचुअल

हम जो भी घड़ी बनाते हैं उसके डायल पर एक शब्द से अधिक, सतत(परपेचुअल) एक ऐसी भावना है जो हम जो कुछ भी करते हैं उसे चलाती है।
Rolex.org वर्तमान में आपकी भाषा में उपलब्ध नहीं है, आपको वेबसाइट के अंग्रेजी संस्करण पर निर्देशित किया जाएगा।