ब्राउज़र अपडेट आवश्यक

rolex.com पर आपका स्वागत है। आपको सर्वोत्तम संभव अनुभव प्रदान करने के लिए, rolex.com को अप-टु-डेट ब्राउज़र की आवश्यकता है। कृपया हमारी साइट को अच्छी तरह देखने के लिए किसी अधिक नए ब्राउज़र का प्रयोग करें।

QR कोड स्कैन करके WeChat पर रोलेक्स को फ़ॉलो करें

पॉल कायार्ड

प्रत्येक रोलेक्स एक कहानी बयां करती है

अमरीकी नाविक पॉल कायार्ड, सब से प्रख्यात एवं सब से ख्याति प्राप्त नाविकों में से एक हैं। उन्होंने कई विश्व चैम्पियनशिप जीती हैं, दो बार ओलिम्पिक खेलों में और सात बार अमेरिकाज़ कप में प्रतिभागिता की है। पिछले 40 वर्षों से सैकड़ों हजारों मीलों तक समुद्र के ऊपर, कायार्ड ने प्रकृति माँ के सब से खतरनाक पहलुओं का सामना किया है। समुद्र पर सब से चुनौतीपूर्ण पलों का सामना करने के लिए सौहार्द अत्यंत आवश्यक है और उनकी रोलेक्स उन्हें उन अविस्मरणीय रोमांचों की याद दिलाती है।

Every Rolex Tells a Story - Paul Cayard

“मेरे ख़याल से उन शुरुआती दिनों में जिस चीज़ ने मुझे सेलिंग की तरफ आकर्षित किया वो थी स्वतन्त्रता और स्वायत्तता। मैं वास्तव में अपनी खुद ही अपने जहाज़ का कप्तान था। और आम तौर पर, आप आठ वर्ष की उम्र में, किसी भी जहाज़ के कप्तान नहीं होते!”

जब मैं आठ साल का था, मेरे पिताजी ने यहाँ सैन फ्रांसिस्को में हमारे गैराज में, मेरी पहली लकड़ी की नाव बनाई थी। मेरे परिवार में कोई भी नाविक नहीं था, लेकिन इस खेल से मेरा परिचय मेरे एक सहपाठी द्वारा कराया गया, और मेरे पिता ने भाँप लिया कि मुझे इस खेल से कितना लगाव था। मेरे ख़याल से उन शुरुआती दिनों में जिस चीज़ ने मुझे सेलिंग की तरफ आकर्षित किया वो थी स्वतन्त्रता और स्वायत्तता। मैं वास्तव में अपनी खुद ही अपने जहाज़ का कप्तान था। और आम तौर पर, आप आठ वर्ष की उम्र में, किसी भी जहाज़ के कप्तान नहीं होते! तभी से, सेलिंग के प्रति जुनून ने कभी मेरा पीछा नहीं छोड़ा।

मैं मानता हूँ कि यह विज्ञान का एक बहुत रोचक तथ्य है कि मानव ने केवल वायु बलों की सहायता से दुनिया भर में नौकायन करना सीखा। यदि मैं सैन फ्रांसिस्को बे से थायलैंड या यमन से मिस्र में अलेक्सांद्रिआ जाना चाहता हूँ तो मैं जा सकता हूँ। लेकिन कभी-कभी प्रकृति माँ बहुत ही जानलेवा हो सकती है और आपको प्रकृति माँ के सबसे भयावह रूप का सामना करने के लिए स्वयं पर काबू पाने के लिए वास्तव में बहुत ही व्यवस्थित होना पड़ता है।

पॉल कायार्ड की रोलेक्स घड़ी

मुझे लगता है इसके 90 प्रतिशत हिस्से की आप तैयारी कर सकते हैं, लेकिन चाहे आप कितने भी अनुभवी क्यों ना हों, आपके किसी ऐसी चीज़ का सामना करने की संभावना हमेशा रहती है जिसे आपने कभी न देखा हो। यह शायद सबसे आकर्षक है, और साथ ही, माँ प्रकृति का सबसे खतरनाक हिस्सा भी है। कभी-कभी आप पृथ्वी के सबसे एकाकी एवं दूरस्थ स्थानों पर होते हैं, और अगर कुछ गड़बड़ हो जाए, तो आपके पास मदद के लिए सिर्फ आपके साथ नाव में सवर नौ ही लोग होते हैं – आप अपने जीवन को उनके भरोसे छोड़ देते हैं। समुद्र में सौहार्द का अर्थ है अपने साथी के पीछे रहना और यह जानना कि वे आपके पीछे हैं।

“चाहे आप कितने भी अनुभवी क्यों ना हों, आपके किसी ऐसी चीज़ का सामना करने की संभावना हमेशा रहती है जिसे आपने कभी न देखा हो। यह शायद सबसे आकर्षक है, और साथ ही, माँ प्रकृति का सबसे खतरनाक हिस्सा भी है।”

यह घड़ी मुझे मोरो डी वेनेज़िया के मालिक, राउल गार्डिनी द्वारा दी गई थी। जब हमने 1988 में यहीं सैन फ्रांसिस्को बे में जहाँ मैं पला-बढ़ा, मैक्सी वर्ल्ड चैंपियनशिप जीती, तो रोलेक्स ने विजेता नाव के मालिक को एक रोलेक्स घड़ी भेंट की। लेकिन राउल ने बहुत ही उदारतापूर्वक 25 सबमरीनर ऑर्डर कर दी, जिनमें प्रत्येक में “1988, मैक्सी वर्ल्ड चैम्पियन, II मोरो डे वेनेज़िया” उत्कीर्णित था, और उन्होंने क्रू के प्रत्येक सदस्य को उसे भेंट किया। यह एक अच्छी तरह किए गए कार्य की असली मान्यता थी और मेरे लिए यह घड़ी मेरे करियर की सबसे महत्वपूर्ण अवधि का प्रतीक है: हम आगे चल कर अमेरिका कप के फ़ाइनल में पहुँचने से पहले, अमेरिका कप के चैलेंजर सीरीज़ के विजेता बने और अंततः विश्व पटल पर रेसिंग प्रतियोगिताएं जीते। इस पूरे रोमांच के दौरान, यह घड़ी मेरे साथ रही है।

मैंने इस सबमरीनर के साथ पोर्टो कर्वों में रेस की है जहाँ हम मैक्सी वर्ल्ड्स में द्वितीय आए, मैंने इस घड़ी के साथ 1991 में जापान में 50-फूट क्लास में वर्ल्ड चैंपियनशिप में रेस की और जीती। मैं इंग्लैंड में आइल ऑफ व्हाइट में कॉउस में रेस की है, मैंने ट्रैवेमुंडे, जर्मनी में रेस की है और मैंने संयुक्त राज्य अमेरिका में की वेस्ट में भी रेस की है। इस घड़ी ने 1997 में मेरे साथ दुनिया का चक्कर भी लगाया है।

“यह रोलेक्स मेरे लिए इतने मायने रखती है जिसका कारण है न केवल वो रेसें जिनकी यह साक्षी रही है बल्कि वो आदमी भी जिसने ये मुझे दी।”

यह रोलेक्स मेरे लिए इतने मायने रखती है जिसका कारण है न केवल वो रेसें जिनकी यह साक्षी रही है बल्कि वो आदमी भी जिसने ये मुझे दी। राउल गार्डिनी एक नाव के मालिक से कहीं अधिक थे – उनका मेरे करियर पर बहुत बड़ा प्रभाव था, और शायद मेरे जीवन पर उससे भी अधिक। वे मेरे पिता समान, मेरे गुरु की तरह रहे हैं।

मेरी बेटी जब 18 वर्ष की थी तो वो विशेष रूप से इस खास घड़ी की विशेष प्रशंसक थी, इसलिए कुछ वर्ष पहले मैंने इसे उसको दे दिया। उसने इसे अपने हाई स्कूल ग्रेजुएशन में पहना, और उसे स्टेज पर एक रोलेक्स घड़ी पहनकर जाते हुए देखने से मैं अपने प्रत्येक बच्चे को उनके 21वें जन्मदिन पर रोलेक्स भेंट करने के लिए प्रेरित किया। मेरे बच्चे स्वयं एक शौकीन नाविक हैं, और मुझे उन्हें सिखाने का सौभाग्य मिला है; मेरे बेटे को एक याट मास्टर मिली है और मेरी बेटी के पास ठीक मेरी ही तरह एक सबमरीनर है।