ब्राउज़र अपडेट आवश्यक

rolex.com पर आपका स्वागत है। आपको सर्वोत्तम संभव अनुभव प्रदान करने के लिए, rolex.com को अप-टु-डेट ब्राउज़र की आवश्यकता है। कृपया हमारी साइट को अच्छी तरह देखने के लिए किसी अधिक नए ब्राउज़र का प्रयोग करें।

QR कोड स्कैन करके WeChat पर रोलेक्स को फ़ॉलो करें
रोलेक्स की पहली वॉटरप्रूफ़ घड़ी

पहली
वॉटरप्रूफ़ घड़ी

1926

1926 में, रोलेक्स की पहली वॉटरप्रूफ़ और डस्टप्रूफ़ कलाई घड़ी के निर्माण ने आगे की ओर एक बड़े कदम को चिह्नित किया। “ऑयस्टर” नाम वाली इस घड़ी में वायुरोधी तरीके से सीलबंद किया हुआ एक केस था जो मूवमेंट को अभीष्ट सुरक्षा प्रदान करता था।

रोलेक्स की ऑयस्टर घड़ी ने इंगलिश चैनल पार किया

चैनल-पार चैलेंज

1927

घड़ी के वॉटरप्रूफ़ होने का दावा करना एक बात है। और इसे सिद्ध करना बिलकुल अलग बात है। 1927 में मर्सिडीज़ ग्लीट्जे नामक एक युवा अँग्रेज तैराक द्वारा पहनी हुई एक रोलेक्स ऑयस्टर ने इंगलिश चैनल को पार किया था। यह तैराकी 10 घंटे से अधिक चली थी और इसके खत्म होने पर घड़ी पूरी तरह से कार्यशील दशा में थी।

प्रमाण सिद्धांत

1927

चैनल पार करने का जश्न मनाने के लिए, रोलेक्स ने डेली मेल के मुख पृष्ठ पर पूरे पृष्ठ का एक विज्ञापन प्रकाशित किया था जिसमें वॉटरप्रूफ़ घड़ी की सफलता की घोषणा की गई थी। इस समारोह में प्रमाण सिद्धांत का जन्म हुआ।

रोलेक्स की पहली वॉटरप्रूफ़ घड़ी की सफलता
रोलेक्स का पहला परपेचुअल रोटर

परपेचुअल मूवमेंट

1931

1931 में, रोलेक्स ने परपेचुअल रोटर के साथ दुनिया की पहली सेल्फ़-वाइंडिंग यंत्रप्रणाली का आविष्कार किया और पेटेंट करवाया। यह शानदार प्रणाली जो सच में एक कलाकृति है, आज हर आधुनिक स्वचालित घड़ी के केंद्र में है।

एवरेस्ट के ऊपर उड़ान

1933

एवरेस्ट के ऊपर उड़ान का पहला अभियान रोलेक्स ऑयस्टर्स से सुसज्जित था। चालक दल के सदस्य घड़ियों के प्रदर्शन से अत्यधिक संतुष्ट हुए थे।

रोलेक्स की एवरेस्ट के ऊपर उड़ान
रोलेक्स और मोटर रेसिंग

एक जीवंत प्रयोगशाला

1935

रोलेक्स ने विभिन्न क्षेत्रों में ऑयस्टर के तकनीकी कार्य-प्रदर्शन का परीक्षण करने, उसे सटीक बनाने और प्रदर्शित करने के लिए ठोस अवसर को पहचाना। खेल-कूद, उड्डयन, मोटर रेसिंग और खोज अभियानों की दुनिया ने घड़ियों के अनगिनत तकनीकी विशेषताओं के लिए जीवंत प्रयोगशाला का निर्माण किया।

रोलेक्स और सर मैल्कम कैम्पबेल

सर मैल्कम कैम्पबेल

1935

1930 के दशक में, गति की तलाश में रोलेक्स और दुनिया के सबसे तेज ड्राइवरों में से एक, सर मैल्कम कैम्पबेल एक साथ जुड़ गए। 4 सितंबर 1935 को, ब्लूबर्ड पर सवार – और एक रोलेक्स घड़ी पहने हुए – इस “गति के राजा” ने उटाह में बोनविले सॉल्ट फ़्लैट्स में 300 मील प्रति घंटे (लगभग 485 किमी /घंटा) से अधिक भूतल गति का एक रिकॉर्ड स्थापित किया था। सर मैल्कम कैम्पबेल ने 1924 से 1935 के बीच नौ बार गति के विश्व रिकॉर्ड तोड़े , जिसमें से पाँच बार फ़्लोरिडा के डेटोना बीच पर तोड़े गये थे।

रोलेक्स को एक पत्र

1935

“अब मैं अपनी रोलेक्स घड़ी को काफी समय से इस्तेमाल कर रहा हूँ, और यह काफी कठिन परिस्थितियों में एकदम सही समय देती है”, सर मैल्कम कैम्पबेल।

सर मैल्कम कैम्पबेल से रोलेक्स का पत्र
1945 में नई रोलेक्स डेटजस्ट

पहली डेटजस्ट

1945

1945 में जन्म हुआ पहली सेल्फ-वाइंडिंग कलाई क्रोनोमीटर, डेटजस्ट का जिसमें तारीख संकेत करने के लिए डायल पर एक विंडो थी। अत्यधिक विशिष्टता वाली घड़ी, डेटजस्ट में इसके लिए विशेष रूप से सृजित एक जुबली ब्रेसलेट और फ़्लूटेड बेज़ेल थे, जो इसे तुरंत रोलेक्स के रूप में पहचान देते थे। यह ऑयस्टर कलेक्शन का एक स्तंभ है। आरंभ में पुरुषों के लिए, आने वाले दशक में यह विभिन्न मॉडलों में महिलाओं के लिए उपलपब्ध हो गई।

कहानी जारी है...

1953-1967