ब्राउज़र अपडेट आवश्यक

rolex.com पर आपका स्वागत है। आपको सर्वोत्तम संभव अनुभव प्रदान करने के लिए, rolex.com को अप-टु-डेट ब्राउज़र की आवश्यकता है। कृपया हमारी साइट को अच्छी तरह देखने के लिए किसी अधिक नए ब्राउज़र का प्रयोग करें।

QR कोड स्कैन करके WeChat पर रोलेक्स को फ़ॉलो करें
रोलेक्स एवेरोज़ गोल्ड ऑयस्टर केस

ऑयस्टर केस

वॉटरप्रूफ़ होने का प्रतीक

ऑयस्टर केस समकालीन घड़ीसाज़ी के इतिहास में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है। इसका आविष्कार रोलेक्स द्वारा 1926 में किया गया था, और यह कलाईघड़ी के लिए दुनिया का पहला वॉटरप्रूफ़ केस था। इसका राज़ था बेज़ेल, केस बैक और वाइंडिंग क्राउन को मिडिल केस पर स्क्रू से कसने का इसका पेटेंट किया हुआ सिस्टम। यह बेहतरीन अनुपात में ढला और सुंदर घड़ी का केस मज़बूती और वॉटरप्रूफ़ होने के प्रतीक के साथ ही रूप और कार्यात्मकता का शानदार संयोग है, चाहे ऑयस्टरस्टील में बना हो, 18 कैरट गोल्ड में या 950 प्लैटिनम में।

ऑयस्टर केस
ऑयस्टर केस - रोलेक्स घड़ीसाज़ी

एक संकल्पना
की शक्ति

ऑयस्टर केस

आज अपने केस के वायुरुद्ध निर्माण की बदौलत, सभी ऑयस्टर घड़ियाँ कम से कम 100 मीटर (330 फ़ीट) की गहराई तक, और रोलेक्स डीपसी एक्सट्रीम डाइवर्स घड़ी के मामले में 3,900 मीटर (12,800 फ़ीट) तक वॉटरप्रूफ़ होने की गारंटी के साथ आती हैं।

ठोस मिडिल केस
ऑयस्टर का मिडिल केस (केस का मध्यवर्ती भाग) ऑयस्टरस्टील, 18 कैरट गोल्ड या प्लैटिनम के एक ठोस ब्लॉक से स्टैंप किया जाता है और बनाया जाता है । यह बेहद मज़बूत होता है और यही वह मेरुदंड है जिस पर केस के अन्य सभी भाग कसकर फ़िट किए जाते हैं। कुछ प्रोफ़ेशनल मॉडलों में एक ओर एक क्राउन गार्ड होता है - ये शोल्डर मिडिल केस के एकीकृत हिस्से के रूप में स्टैंप किए जाते हैं।

स्क्रू-डाउन केस बैक, रोलेक्स फ्लूटिंग
ऑयस्टर केस का बैक वायुरोधित ढंग से मिडिल केस पर स्क्रू से कसा गया है। ऑयस्टर केस बैक की खास ढंग की फ्लूटिंग, जो 1926 के ऑयस्टर के समय से चली आ रही है, एक विशेष टूल में फ़िट होती है। यह टूल अधिकृत रोलेक्स घड़ीसाज़ों के लिए एक्सक्लूसिव है, इसलिए केवल वही मूवमेंट को एक्सेस कर सकते हैं।

वाइंडिंग क्राउन

सफलता का क्राउन

तकनीकी कुशलता का एक नन्हा मास्टरपीस, रोलेक्स घड़ियों का वाइंडिंग क्राउन करीब 10 हिस्सों से मिलकर बना है, और घड़ी के केस पर वायुरोधित ढंग से स्क्रू से कसा होता है। इसी तरह से, रोलेक्स ने घड़ीसाज़ी के इतिहास में पहली बार, एक वॉटरप्रूफ़ वाइंडिंग क्राउन बनाया — यह घड़ी के भीतर की सुरक्षित, सीलबंद दुनिया और बाहरी दुनिया के हानिकारक तत्वों के बीच एक सुरक्षित इंटरफ़ेस होता है।

रोलेक्स ट्विनलॉक और ट्रिपलॉक वाइंडिंग क्राउन दो या तीन सीलबंद ज़ोन का इस्तेमाल करते हैं जिससे पनडुब्बी के हैच के समान वॉटरटाइट सुरक्षा सुनिश्चित होती है।

रोलेक्स वाइंडिंग क्राउन
ऑयस्टर केस
साइक्लॉप्स लेंस
साइ • क्लॉप्स • लेंस
  1. 1953 में रोलेक्स द्वारा डेटजस्ट की प्रतीकात्मक तारीख को आवर्धित करने के लिए पेटेंट किया गया मैग्निफ़ाइंग लेंस।
  2. ग्रीक पौराणिक कथाओं के एक आँख वाले विशालकाय व्यक्तित्व के नाम पर नामित।
  3. रोलेक्स घड़ियों का एक विशिष्ट चिह्न, जिसे दूर से आसानी से पहचाना जा सकता है।
  4. क्रिस्टल के समान उसी स्क्रैचप्रूफ़ सैफ़ायर से निर्मित जिससे ये जुड़ा होता है।
  5. तारीख की अतिरिक्त स्पष्ट पाठ्यता सुनिश्चित करने के लिए डबल एंटी-रिफ्लेक्टिव कोटिंग इसकी विशेषता है।
  6. रोलेक्स का तरीका।

बेज़ेल

रूप और कार्यात्मकता

रोलेक्स में, रूप और कार्यात्मकता अक्सर एक-दूसरे से बहुत नज़दीकी से मिले होते हैं। बेज़ेल के मामले में यह खासकर लागू होता है, जो ऑयस्टर घड़ियों की मज़बूत दृश्यात्मक पहचान का एक मूलभूत घटक है। पिछले कुछ वर्षों में, अनेक रूपों वाले, फिक्स्ड या घूमने योग्य बेज़ेल पेश किए गए हैं, जो घड़ी के प्रकार के अनुसार नए फ़ंक्शन प्रदान करते हैं: डाइविंग का समय, दूसरा समय-क्षेत्र, 24 घंटे का डिस्प्ले, टैकीमीटर स्केल, आदि।

रोलेक्स बेज़ेल
रोलेक्स का फ्लूटेड बेज़ेल

फ्लूटेड बेज़ेल

रोलेक्स सिग्नेचर

मूल रूप से, ऑयस्टर बेज़ेल की फ्लूटिंग का एक कार्यात्मक उद्देश्य था: इससे बेज़ेल को केस पर स्क्रू से कसा जाता था जिससे घड़ी का वॉटरप्रूफ़ होना सुनिश्चित होता था। इसलिए यह बिल्कुल केसबैक पर फ्लूटिंग के समान होता था, जिसे भी रोलेक्स के विशेष टूल्स का प्रयोग करके केस पर स्क्रू से कसा जाता था ताकि वॉटरप्रूफ़ होना सुनिश्चित हो। समय के साथ, फ्लूटिंग एक सौंदर्यात्मक तत्व बन गई, असली रोलेक्स की एक सिग्नेचर विशेषता। आज फ्लूटेड बेज़ेल विशिष्टता की निशानी होता है, और यह हमेशा गोल्ड का बना होता है।