ब्राउज़र अपडेट आवश्यक

rolex.com पर आपका स्वागत है। आपको सर्वोत्तम संभव अनुभव प्रदान करने के लिए, rolex.com को अप-टु-डेट ब्राउज़र की आवश्यकता है। कृपया हमारी साइट को अच्छी तरह देखने के लिए किसी अधिक नए ब्राउज़र का प्रयोग करें।

QR कोड स्कैन करके WeChat पर रोलेक्स को फ़ॉलो करें

प्रत्येक रोलेक्स एक कहानी बयां करती है

रोलेक्स को पत्र

अपने टेस्टीमोनीयों द्वारा विश्वास मत के अतिरिक्त, विगत वर्षों में रोलेक्स को अपने कई ग्राहकों से समर्थन के कई सहज संदेश मिले हैं, जिन्होंने अपनी घड़ियों की मज़बूती और विश्वसनीयता पर प्रसन्नता व्यक्त की है। सभी रोलेक्स घड़ियों की अतिउत्कृष्ट गुणवत्ता और दीर्घ जीवन का उल्लेख करते हैं, जिन्हें ऐसी परिस्थितियों में पहना जाता है जो अक्सर उतनी ही असामान्य होती हैं। रोलेक्स ने ऐसे कई प्रशंसापत्रों को 1957, 1969, 1981 और 1990 में जारी किया।

सराहनापत्रों के पहले संकलन की प्रस्तावना में हान्स विल्सडोर्फ़ ने लिखा था:


"इन पत्रों को सार्वजनिक रूप से प्रस्तुत करते हुए, मैं इस बात पर बल देना चाहता हूं कि रोलेक्स में हमें उन पर बेहद गर्व है। मुझे लगता है कि वे हमारी घड़ियों के बारे में जितने ऊँचे शब्दों में सराहना करते हैं वैसी हम स्वयं कभी नहीं कर सकते थे।"

रोलेक्स संस्थापक के हस्ताक्षर - हैंस विल्सडोर्फ़

पत्र की तारीख 31 मार्च 1982

एवरेस्ट से लेकर जलमग्न पुरातत्व तक

''मैं पिछले 17 वर्षों से रोलेक्स सबमरीनर पहन रहा हूँ और मैंने पूरी दुनिया में पर्वतारोहण अभियानों (माउंट एवरेस्ट सहित), पानी के भीतर पुरातात्विक शोध (उत्तरी चील में 19,300 फीट पर दुनिया की सबसे गहरी गोताखोरी), रेगिस्तान पार करने, आसमान से छलांग लगाने, जंगल में अन्वेषण और अनेक नृतत्वशास्त्रीय खोज अभियानों के दौरान इसका उपयोग किया है। मुझे संदेह है कि ज़्यादा लोगों ने रोलेक्स घड़ी को इतने लंबे समय तक इससे ज़्यादा कठोर दंड दिया होगा। फिर भी यह बिना किसी परेशानी के चल रही है।''

योहन रेनहार्ड, पीएचडी इलिनॉइ, यूएसए।

पत्र की तारीख 10 मई 1986

बर्फ के ठोस पिंड से काटकर निकाली गई

''मैं एक उत्साही स्की खिलाड़ी हूं और मेरे पास कई वर्षों से रोलेक्स घड़ी है। आपके प्रॉडक्ट के साथ मुझे जो असाधारण अनुभव हुआ था उसके बारे में एक कहानी मैं आपको सुनाना चाहता हूं!

''जनवरी 1985 में मैंने साल्ज़बर्ग के निकट एक यूरोपियन कप स्की प्रतियोगिता में भाग लिया। हर प्रतियोगिता की तरह, मुझे अपनी रोलेक्स की उतनी ही ज़रूरत होती है जितनी अपनी स्की की होती है। दुर्भाग्यवश, रेस के अंत में, मुझे पता चला कि मेरी घड़ी गुम हो गई है।

''मैंने पर्यटक कार्यालय को सूचित कर दिया और उनसे कहा कि अगर मेरी घड़ी मिल जाए तो तुरंत मुझे खबर कर दें। मैं तो उम्मीद छोड़ चुका था जब, करीब ढाई महीने बाद, मुझे एक फोन कॉल आई। यह अविश्वासनीय सा था लेकिन किसी को बर्फ में मेरी घड़ी मिल गई थी – यह दो महीने से अधिक समय से बर्फ में जमी हुई थी।

''जिस व्यक्ति को यह मिली उसने कहा कि उसे हथौड़ी से बर्फ को तोड़कर हटाना पड़ा। और इससे भी अविश्वासनीय बात यह थी कि रोलेक्स अब भी काम कर रही थी, सेकंड की सुई और तारीख अब भी चल रही थी। मुझे यह देखकर ज़बर्दस्त खुशी हुई कि आपका प्रॉडक्ट वास्तव में हर हालत से बच निकलने वाला है!''

क्रिस्टा किनशोफर, जर्मनी।

पत्र की तारीख 8 मई 1989

रीफ़ पर खज़ाना

''नवंबर 1988 में, जब मैं सेंट विन्सेंट गल्फ़ में समुद्र तट से दूर बोटिंग कर रही थी तो मेरी 12 साल पुरानी लेडी-डेटजस्ट खो गई। मुझे लगा कि मेरी प्यारी घड़ी हमेशा के लिए खो गई है! मुझे कोई उम्मीद नहीं थी, पर मैंने रोलेक्स आस्ट्रेलिया को सूचना दे दी, यह जानते हुए कि अगर किसी चमत्कार से यह मिल गई, तो इसकी पहचान हो जाएगी।

''मार्च में मुझे एक टेलिफोन कॉल से बताया गया कि मेरी घड़ी मिल गई है। घड़ी बहकर एक रीफ़ पर चली गई थी और खोने के सात सप्ताह बाद मिल गई थी - बस थोड़ी सी घिस गई थी, लेकिन अब भी काम कर रही थी! मैं बेहद खुश हूं और मेरे पास सुनाने के लिए एक कहानी है जिसे बार-बार दोहराया जाएगा।

"मुझे विश्वास है कि रोलेक्स की प्रतिष्ठा में एक और प्रशंसापत्र के बारे में जानकर आपको प्रसन्नता होगी। "

एम. हिगरसन, साउथ ऑस्ट्रेलिया।

पत्र की तारीख 22 जुलाई 1982

रोलेक्स ग्रां प्री पॉवरबोट दुर्घटना से बच निकली

''पिछले सत्र के अंत में, म्यूस नदी में बेल्जियन ग्रां प्री में भाग लेते समय मेरी पॉवरबोट की एक भयंकर टक्कर हो गई।

''आधी दूर तक मैं रेस में सबसे आगे था जब हवा के एक तेज़ झोंके से मेरी बोट ऊपर उठ गई। मेरी रफ़्तार 200 किमी प्रति घंटा थी।

''नतीजा यह हुआ कि बोट पूरी तरह तबाह हो गई और मुझे अस्पताल ले जाना पड़ा। मेरी दस पसलियां टूट गई थीं और फेफड़े में छेद हो गया था लेकिन मैं पूरी तरह ठीक हो गया।

''दुर्घटना के दौरान अपनी बाईं कलाई पर अपनी रोलेक्स ऑयस्टर परपेचुअल सबमरीनर-डेट पहने हुए था जिसे ऊपरी तौर पर नुक्सान पहुंचा लेकिन अंदर से बिल्कुल ठीक रही और आज तक उसकी सटीकता में कोई कमी नहीं आई है।

''मैं हमेशा से रोलेक्स घड़ियों का प्रशंसक रहा हूं और इस घटना ने यकीनन मेरे सामने यह साबित कर दिया कि वे कितने शानदार टाइमपीस हैं।''

एलन निम्मो, स्टरलिंगशायर, यूके।

पत्र की तारीख 28 नवम्बर 1988

सिंककर भूरी हो गई पर अब भी चल रही है

''कई वर्ष पहले, अपनी 4-व्हील ड्राइव ट्रक पर कुछ मैकेनिकल काम करते समय, मैंने गलती से अपनी GMT-मास्टर II (और अपनी कलाई) पर हाथ से फिसले रिंच से दे मारा। घड़ी की वजह से मेरी कलाई बच गई, बस हल्की सी चोट लगी, लेकिन क्रिस्टल पर ज़ोर का वार पड़ा जिससे वह चटख गया।

''उसी दिन बाद में मैंने देखा कि चटखे हुए क्रिस्टल के भीतर कुछ नमी जम गई है। मैं कुछ समय से बारिश में बाहर था। मैं बहुत परेशान हो गया क्योंकि एक बढ़िया टाइमपीस के लिए नमी से ज़्यादा नुक्सानदेह कोई चीज़ नहीं होती और मैं केस को सुखाने के लिए उसे खोल नहीं सकता था।

''उसी शाम को खाना खाते वक्त मैंने सोचा कि अगर मैं घड़ी को किसी गर्म जगह पर रख दूं तो शायद उसके भीतर की कुछ नमी सूख जाएगी। मैंने घड़ी को पाई के एक टिन में रखकर अपने किचेन के ओवन में रख दिया जहां वह गैस पायलट लाइट से गर्म हो सकेगी। फिर मैं उस शाम आराम करने चला गया।

''अगली सुबह मैं यह देखकर हैरान रह गया कि रात में किसी समय मेरी घड़ी अच्छी तरह सिंक गई थी! सोने जाने से पहले मैं अपनी पत्नी को बताना भूल गया था कि मैंने घड़ी कहां रखी है।

''मेरी पत्नी देर रात तक एक कंप्यूटर प्रोजेक्ट पर काम कर रही थी। रात के दौरान किसी वक्त उसे भूख लगी और उसने ओवन के नीचे स्थित ब्रॉयलर में खानी के लिए कुछ पकाने का निश्चय किया। उसने ओवन को नहीं खोला।

''कहने की ज़रूरत नहीं कि गर्मी (मेरे ख्याल से ये 500°F तक रही होगी) से नमी सूख गई थी! इससे यह भी हुआ था कि क्रिस्टल और बेज़ेल फटकर केस से अलग हो चुके थे और दीप्तिमान डायल अच्छी तरह सिंके हुए भूरे रंग का हो गया था। घड़ी अब भी चल रही थी!

''रोलेक्स की मरम्मत की दुकान में घड़ीसाज़ इस अजीब कारनामे को देखकर बहुत हैरान हुआ। मालिक और स्टाफ़ के बीच मैं काफ़ी मशहूर हो गया (मुझे विश्वास है कि ऐसा उस मज़ाकिया स्थिति के कारण था)। अच्छी तरह सफ़ाई, लुब्रिकेशन, एडजस्टमेंट और क्रिस्टल को बदलने के बाद, मेरी GMT-मास्टर फिर से मेरी कलाई की शोभा बढ़ाने लगी और 'सामान्य' तरीके से काम करने लगी। मैंने डायल के मुखड़े को बदलवाया नहीं लेकिन उसके बाद से दीप्तिमान धब्बे धूमिल होकर फिर से सफेद हो गए हैं।

जे.जे. एडम्स, CDR USNR. कैलिफोर्निया

पत्र की तारीख 1954

सहारा की यात्रा

''मुझे आपको बताते हुए खुशी हो रही है कि अपनी रोलेक्स से मैं कितना खुश हूं। इसने निश्चित ही मुझे शानदार सेवाएं दी हैं, क्योंकि इसे वाकई 'कष्टों से गुज़रना पड़ा'। हमारी यात्रा में मौसम के हालात अच्छे नहीं रहे। हमें कमोबेश लगातार भयंकर रेतीले तूफानों से जूझना पड़ा, जो कभी-कभी तो बिना रुके कई दिनों तक चलते रहते थे।

''मैं अपनी रोलेक्स से तुलना करने के लिए एक साधारण घड़ी अपने साथ ले गया था लेकिन वह पांच दिनों के बाद जवाब दे गई।

''दूसरी ओर, मेरी रोलेक्स बढ़िया ढंग से समय बताती रही, हालांकि मैं आपको आश्वस्त कर सकता हूं कि मैंने इसके साथ कोई रियायत नहीं बरती।

''मैं यह भी कहना चाहता हूं कि रेगिस्तान में हर तरह के लोगों ने मेरी रोलेक्स की सराहना की।

''उन्हें जिस चीज़ से सबसे अधिक अचरज हुआ वह केवल ऑटोमेटिक सेल्फ़-वाइंडिंग ही नहीं थी, बल्कि सबसे बढ़कर वे इसके पूरी तरह वॉटरप्रूफ़ होने से हैरान थे जिसे मैं हमेशा खुशी-खुशी साबित करता था।''

एच.-सी. गोले

पत्र की तारीख 1954

अटलांटिक को पार करना

''मैं आपको रोलेक्स एक्प्लोरर घड़ियों के बारे में बताना चाहता हूं जो हम सबने मेरे मोटर याट 'एरीस' में अटलांटिक को दो बार पार करते समय पहनी थी। उस समय हमने पॉवर से चलने वाली छोटी बोट में सबसे पहले अटलांटिक को दो बार पार करने का रिकॉर्ड बनाया था। हम पूरी तरह घड़ियों पर निर्भर थे, सिर्फ़ समय देखने के लिए नहीं, बल्कि नेविगेशन के लिए भी।

"घड़ियों की सटीक समय पालन की क्षमता, ताकि हम सबसे कठिन परिस्थितियों में सफलतापूर्वक नौचालन कर सकें, पूर्ण रूप से साबित हो गई थी। "

सी. हारकोर्ट-स्मिथ

#प्रत्येक रोलेक्स एक कहानी बयां करती है